12 सप्ताह में याददाश्त बढ़ानी है तो खाएं इस पौधे के पत्ते…

0
71

भारत में प्राचीन समय से ही आयुर्वेदिक चिकित्सा को महत्व दिया गया है। आयुर्वेदिक चिकित्सा प्रणाली के द्वारा जटिल से जटिल व पुरानी बीमारियों का इलाज जड़ी-बूटियों से किया जाता है। भारतीय वनस्पति में कई प्रकार के पेड़-पौधे व जड़ी-बूटियां उपलब्ध हैं जिनके द्वारा आज भी कई बीमारियों का इलाज संभव है। इन दुर्लभ जड़ी-बूटियों में से एक है ‘ब्राह्मी’। ब्राह्मी नम क्षेत्रों में पाया जाने वाला एक पौधा है। इसका तना व पत्तियां मुलायम होती हैं और इस पौधे पर सफेद रंग के फूल लगते हैं।

इन्हें भी पढ़ें…आंखों की ज्योति, चेहरे, बालों की सुंदरता बढ़ाने का छिपा है इस में राज…
स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है ‘ब्राह्मी’
‘ब्राह्मी’ का सबसे बड़ा फायदा है कि यह बूटी मनुष्य के दिमाग के लिए प्रकृति का सबसे कीमती उपहार है।‘ब्राह्मी’ दिमाग को तेज़ करती है, स्मरण शक्ति को बढ़ाती है और अन्य कई प्रकार के रोगों को ठीक करने में सहायक सिद्ध होती है।


स्मरण शक्ति को बढ़ाती है
‘ब्राह्मी’ स्मरण शक्ति के साथ-साथ एकाग्रता को भी बढ़ाती है। अध्ययनों से सिद्ध होता है कि ‘ब्राह्मी’ का लम्बे समय तक सेवन करने से युवाओं से लेकर बुजुर्गों तक सभी लोगों की याददाश्त सही रहती है। तनाव और चिंता होती है दूर
‘ब्राह्मी’ के 2-4 पत्तों का लगातार सेवन तनाव और चिंता को दूर करता है। ‘ब्राह्मी’ में कुछ ऐसे सक्रिय तत्व पाए जाते हैं जो मानव शरीर के हार्मोन सिस्टम पर सकारात्मक प्रभाव डालकर चिंता व तनाव को खत्म करते हैं।

इन्हें भी पढ़ें…शूगर में रामबाण हैं इस पेड़ के पत्ते


बढ़ती है रोग प्रतिरोधक क्षमता
‘ब्राह्मी’ के उपयोग से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।‘ब्राह्मी’ के पोषक तत्व शरीर की बीमारियों से लड़ने की क्षमता को बढ़ाते हैं।‘ब्राह्मी’ में मौजूद एंटीआक्सीडेंट तत्व शरीर को संक्रमण के बचाते हैं।
बाल और त्वचा होती है स्वस्थ
‘ब्राह्मी’ का तेल बालों का रूखापन खत्म करने के साथ-साथ बालों को झड़ने से रोकता है। तथा बालों को पोषित करता है। वहीं ‘ब्राह्मी’ के प्रयोग से शरीर के घाव जल्दी भरते हैं। ‘ब्राह्मी’ का तेल व रस त्वचा को स्वस्थ बनाता है और निशान व दाग ठीक करता है।
मधुमेह में है रामबाण
कुछ अध्ययनों के बाद यह तथ्य सामने आए हैं कि ‘ब्राह्मी’ मधुमेह के स्तर में सुधार करने में सक्षम है। और शूगर के रोगी को सामान्य व सेहतमंद जीवन जीने में सहायता प्रदान करती है।

इन्हें भी पढ़ें…शराब से होने वाले नुकसान से बचना है तो हजूर खाईए…
कार्य क्षमता को बढ़ाती है
‘ब्राह्मी’ दिमाग के लिए लाभदायक है। यह दिमाग को शान्ति प्रदान करती है। लगातार मानसिक कार्य करने के बाद थकान होना स्वाभाविक है जिससे कार्य करने की क्षमता कम हे जाती है। ‘ब्राह्मी’ के सेवन से हैरानीजनक लाभ होता है।

सूजन व दर्दनाशक
‘ब्राह्मी’ का प्रयोग सूजन व दर्द में राहत प्रदान करता है। एक शोध के मुताबिक ‘ब्राह्मी’ दर्द को कम करने में मार्फिन की तरह प्रभावी हो सकती है। ‘ब्राह्मी’ का इस्तेमाल कमर दर्द, मासपेशियों के दर्द व गठिया जैसी बीमारी में लाभदायक सिद्ध होता है। ‘ब्राह्मी’ के तेल से प्रभावित हिस्से पर मालिश करने से राहत महसूस होती है।
इसके इलावा ‘ब्राह्मी’ खून की खराबी, पीलिया, बुखार, खांसी व खराब गले को ठीक करती है।

इन्हें भी पढ़ें…इस नमक के सेवन से रक्तचाप नियंत्रण सहित 48 रोगों से होता बचाव…
‘ब्राह्मी’ के नुकसान
‘ब्राह्मी’ की तासीर ठंडी होती है। ‘ब्राह्मी’ का अधिक मात्रा में सेवन करने से सिर दर्द व घबराहट हो सकती है। इसका प्रयोग सीमित मात्रा में ही करना चाहिए। 12 हफ्तों से अधिक इसका प्रयोग स्वास्थ्य के लिए ठीक नहीं माना जाता। रोग के अनुसार या जरूरत के मुताबिक ही ‘ब्राह्मी’ का सेवन करें।

धर्मेन्द्र संधू

LEAVE A REPLY